कम्प्यूटर क्या है – What Is Computer। Types Of Computer। Defination and History Of Computer (In Hindi)

कम्प्यूटर क्या है – What Is Computer। Types Of Computer। Defination and History Of Computer In Hindi

Computer or pc

कम्प्यूटर क्या है? What Is Copmuter :

Copmuter एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो User की Command पर Input को प्रोसेस करके Output में बदलता है एवं गणना को आसान बनाता है। Computer आंकड़ों की गणना करना आसान बनाता है और साथ ही साथ सारे Data व आंकड़ों को सुरक्षित स्टोर करता है।

Computer किसे कहते हैं ? What Is Computer System ?

Computer मुख्यतः Hardware और Software दो चीजों से मिल कर बना है। Computer System में Computer की प्रणाली को दो भागों में विभाजित किया गया है।
1. Software
2. Hardware

1. Software : यह एक Coading Programming Language है जो किसी Computer के Hardware को काम करने का निर्देश देता है वह Computer Software कहलाता है। इसे Computer Operating System Software भी कहते हैं।

Software 


Compuer का Full Form क्या है ? What Is Full Form Of a Computer?

Computer को निम्नलिखित सात भागों में बांटा गया है।

C - Commonly
O - Operated
M - Machine
P - Particularly
U - Used in
T - Technical and
E - Educational
R - Research


Computer कितने प्रकार के होते हैं? Types Of Computer ?

Computer मुख्यतः चार प्रकार के होते है।

1. सुपर कंप्यूटर (Super Computer) : सबसे शक्तिशाली, सिर्फ बड़े और सरकारी संस्थानों में की प्रयोग होते है।

Super computer

2. मेनफ़्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computer): मेनफ़्रेम कंप्यूटर सुपर कंप्यूटर जितने शक्तिशाली तो नहीं परन्तु बड़े व्यापारिक संस्थानों द्वारा प्रयोग किये जाने वाले इन कंप्यूटर की प्रोसेसिंग क्षमता काफी अधिक होती है। इन्हें बड़े वातानुकूलित कमरों में रखा जाता है और बड़े-बड़े इनफार्मेशन सिस्टम द्वारा प्रोसेसिंग के लिए प्रयोग किया जाता है।

Mainframe computer

3. मिनी कंप्यूटर (Mini Computer): मिनी कंप्यूटर सामान्य व्यक्तिगत कंप्यूटर से क्षमता और आकार में बड़े इन कंप्यूटर का कंपनियों और कई संस्थानों में विशेष कार्यों के लिए प्रयोग किया जाता है।

Mini computer

4. माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer): माइक्रो कंप्यूटर सबसे अधिक प्रयोग में आने वाले पर्सनल कंप्यूटर, लैपटॉप, स्मार्टफोन, डिजिटल सहायक उपकरण इत्यादि सभी इस श्रेणी में आते है। इनकी प्रोसेसिंग क्षमता और आकार अन्य सभी प्रकार के कंप्यूटर से कम होती है

Personal computer or pc

आपको बता दें कि पर्सनल कंप्यूटर जो आप अपने घरों में इस्तेमाल करते हैं उसी को कहा जाता है पर्सनल कंप्यूटर जिसे हम सामान्य भाषा में PC कहते हैं। यह Micro Computer ही कहलाता है। क्योंकि इसे एक समय पर एक ही व्यक्ति इस्तेमाल कर सकता है।

कंप्यूटर के गुण व विशेषताएं (Characteristics Or Features Of Computer)

Computer के प्रयोग से घंटो का काम कुछ ही देर में पूरा हो जाता है। इसकी मदद से कार्य में गलतियां न के बराबर होती है


Computer के फायदे या होने वाले लाभ

1. Speed: जैसा कि हम सब जानते हैं Computer को तीव्र गति से परफॉर्म करने के लिए डिजाइन किया गया है और Computer इस में माहिर है कि वह कोई भी फंक्शन बड़े आसानी से काफी तीव्र गति से कर सकता है क्योंकि इसी तरह प्रोग्रामिंग हुई है जिस कारण यह रिजल्ट काफी फास्ट शो कराता है वह डाटा को काफी जल्दी प्रोसेस करता है।

2. Accuracy: अगर सटीकता की तुलना की जाए तो Computer का डाटा और उसकी परफॉर्मेंस काफी सटीक व एक्यूरेट पाई जाती है मैन्युअल मेथड की तुलना में। कंप्यूटर का कार्य हमेशा सटीक ही होता है इसमें सिर्फ User के कारण उसकी डाटा एंट्री या उसके कमांड करने में गलती के कारण ही हो सकता है क्योंकि Computer में जो डाटा फीड किया जाता है वह उसी के हिसाब से आपको रिजल्ट शो करता है।

3. Reliability: Computer एक काफी विश्वसनीय सोर्स है और इसके द्वारा किया हुआ काम विश्वसनीय है क्योंकि जो भी एरर आता है वह मैनुअल मेथड में ज्यादा देखा जाता है बजाए Computer के किए हुए रिजल्ट के। Computer में फीड किया हुआ डाटा वर्षों बाद भी एक्यूरेट रहता है अगर कोई चीज की आवश्यकता है तो वह उसको चेंज करने की सुविधा भी उपलब्ध कराता है।

4. Memory: Computer की मेमोरी काफी साफ होती है जिससे सालों पुरानी फाइल भी आपको मिनटों में निकाल कर प्रेजेंट कर सकता है। आपकी कई सालों पुरानी फाइल किसी भी फोल्डर में पड़ी होगी आपको सिर्फ सर्च करना है और आपको वह फाइल तुरंत मिल सकती है आप जो डाटा मेमोरी में फिट करेंगे वह आपको जब चाहे तब Computer के द्वारा उपलब्ध कराया जा सकता है।


Computer के मुख्य अंश (Parts Of Computer In Hindi)

जैसा कि हम जानते हैं कि कंप्यूटर कुछ पार्ट से मिलकर बना हुआ होता है तो वह कौन से पार्ट हैं जिनको मिलाकर एक Computer बनता है। इस Post में आगे आपको Computer के कुछ मुख्य अंश के बारे में जानने को मिलेगा।

Read more...


1. Motherboard: यह Computer का मुख्य सर्किट बोर्ड है। मदरबोर्ड एक पतली प्लेट होती है जिसके द्वारा कंप्यूटर का सारे पार्ट्स कनेक्ट होते हैं और यह सारे पार्ट्स जैसे कि Optical Drive, CPU, Hard Drive, etc इससे जुड़े हुए होते हैं। मदरबोर्ड कंप्यूटर का एक अहम हिस्सा है जिसके द्वारा कंप्यूटर आसानी से फंक्शन कर पाता है तथा सारी कमांड व एक्शन आसानी से ले पाता है। इसकी सहायता से आप हार्ड ड्राइव में अपना डाटा स्टोर करके रख सकते हैं और जब चाहे तब आप अपने डेटा का एक्सेस ले सकते हैं।

Mother board of a computer

2. CPU: इसे हम Central Processing Unit के नाम से भी जानते हैं। CPU को Computer का ब्रेन कहा जाता है और यह मदरबोर्ड के अंदर पाया जाता है। जितना फास्ट सीपीयू का प्रोसेसर होगा उतनी जल्दी हमारा कंप्यूटर तेजी से फंक्शन कर पाएगा और तेजी से डाटा को Load करने मे कारगर होगा एवं इंटरनेट सर्फिंग आसानी से कर पाएगा। CPU ज्यादातर डाटा का विश्लेषण करने में मदद करता है और Computer से जुड़ी हुई सारी प्रोसेसिंग को फास्ट बनाता है।

Compute processer

3. RAM: Random Access Memory यानी RAM यह कंप्यूटर में एक Temporary Memory का काम करती है। RAM जिसे हम GB (Giga Bytes), MB (Mega Bytes) की Unit से समझ सकते हैं। जितने जीबी या एमबी का रैम होगा आपके कंप्यूटर में उतनी ही अच्छी तरह से प्रोसेस करेगा एवं उसकी स्पीड उतनी ही अच्छी होगी। पर अगर आप अपनी कोई फाइल को सेव करना चाहते हैं तो उसको आप सेव ऑप्शन पर जाकर अपने हार्ड ड्राइव में सेव कर सकते हैं क्योंकि वे एक टेंपरेरी मेमोरी सिस्टम है तो इसके कारण कंप्यूटर ऑफ होने पर आपका डाटा डिलीट हो सकता है।

Ram of a computer 

4. Hard Drive: हार्ड ड्राइव कंप्यूटर में एक परमानेंट मेमोरी रखने का सिस्टम है जो कई लेयर से बना होता है जिसमें सारा डाटा रखा जाता है और इसमें साथ ही साथ एक ऑप्शन दिया जाता है जिसकी मदद से आप डाटा को रीड एवं राइट कर सकते हैं। आपका सारा डाटा हार्ड ड्राइव में सुरक्षित होता है और आप जब चाहे तब अपने डाटा को एक्सेस कर सकते हैं Hard Drive की मदद से।

Computer hard drive or hard disk


Computer का पहली बार उपयोग कब किया गया?

हमें Computer के जनक Charles Babbage का धन्यवाद करना चाहिए जिनकी वजह से आज हम सब Computer का इस्तेमाल कर पा रहे हैं। क्योंकि इन्होंने ही एनालिटिकल इंजन का आविष्कार किया जो आगे जाकर Computer में परिवर्तित हुआ जिसकी सहायता से आज हमारे सारे कार्य आसानी से हो रहे हैं।

Charles Babbage


अगर Computer का उपयोग देखा जाए तो हम यहां अपनी आम जिंदगी में भी काफी आसानी से देख सकते हैं जैसे कि आजकल Computer पढ़ाई में एवं व्यापार में और अकाउंट में एवं अन्य सभी फील्ड में मदद करता है जिनकी वजह से हम अपना डाटा स्टोर कर सकते हैं या नई इंफॉर्मेशन पा सकते हैं या कुछ नया इन्वेंशन कर सकते हैं और यह सब सिर्फ Computer की मदद से ही हो पाया है।

FAQs (Frequently Asked Questions)

Q: Computer का जनक कौन है?

Ans: Charles Babbage Computer के जनक कहे जाते हैं।

Q: Computer की फुल फॉर्म क्या है?

Ans: Computer का फुल फार्म Commonly Operated Machine Particulary Used for Technical and Educational Research है।

Q: Computer का क्या कार्य है?

Ans: Computer Input या रॉ डाटा को लेकर उसे प्रोसेस कर कर आउटपुट या फाइनल रिजल्ट में बदलता है एवं सभी फाइल और आपका डाटा सेव करता है। इसके अलावा Computer के काफी सारे उपयोग है।