Intra district basic teacher mutual transfer rules and GO| बेसिक शिक्षक म्यूच्यूअल ट्रांसफर के नियम व लेटेस्ट news

Intra district basic teacher mutual transfer rules and GO| बेसिक शिक्षक म्यूच्यूअल ट्रांसफर के नियम व लेटेस्ट news 

Intra district basic teacher transfer rules :

उ०प्र० बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन संचालित प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों के पारस्परिक अन्तः जनपदीय स्थानान्तरण के सम्बन्ध में निम्नवत् नीति निर्धारित की जाती है।


परिषदीय विद्यालय में शिक्षकों के अन्तः जनपदीय पारस्परिक स्थानान्तरण हेतु जनपद स्तर पर निम्नवत समिति प्रस्तावित है।

क- प्राचार्य जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान - अध्यक्ष

ख- जिला विद्यालय निरीक्षक - सदस्य

ग- जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी - सदस्य सचिव

घ- वित्त एवं लेखाधिकारी (बेसिक) - सदस्य

पारस्परिक अन्तः जनपदीय स्थानान्तरण के लिए निम्नवत् समय सारिणी प्रस्तावित की जा रही है-

1. पारस्परिक स्थानान्तरण हेतु ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की तिथि

👉 सम्पूर्ण शैक्षिक सत्र के दौरान

2. शिक्षक द्वारा किये गये आवेदन पत्र का प्रिन्ट आउट सम्बन्धित जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में जमा की अवधि

👉 Apply करने के बाद 15 दिन के अंदर

3. आवेदक की पात्रता/अपात्रता के सम्बन्ध में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा सम्बन्धित विकास खण्ड के खण्ड शिक्षा अधिकारी को सत्यापन हेतु आवेदन पत्र उपलब्ध कराये जाने की अवधि

👉 15 कार्य दिवस के अंदर

4. जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा सत्यापन कराये जाने के उपरान्त जिला स्तरीय समिति की बैठक/ संस्तुत किए जाने की अवधि

👉 1 माह के अन्दर

5. शिक्षकों द्वारा पारस्परिक स्थानान्तरण संबंधी किसी भी प्रकार की आपत्ति जिला स्तरीय समिति के समक्ष प्रस्तुत करने की अवधि

👉 15 कार्य दिवस में

6. स्थानान्तरण आदेश निर्गत करना एवं कार्यमुक्त आदेश

👉 ग्रीष्मावकाश एवं शीतावकाश में

Read more...









Basic teacher transfer rule (प्रमुख बिन्दु)

1. प्राथमिक विद्यालय का Headmaster का mutual प्राथमिक विद्यालय के Headmaster।

2. प्रधानाध्यापक प्राथमिक विद्यालय का सहायक अध्यापक उच्च प्राथमिक विद्यालय।

3. सहायक अध्यापक प्राथमिक विद्यालय का सहायक अध्यापक प्राथमिक विद्यालय।

4. सहायक अध्यापक उच्च प्राथमिक विद्यालय का सहायक अध्यापक उच्च प्राथमिक विद्यालय ।

5. प्रधानाध्यापक उच्च प्राथमिक विद्यालय का प्रधानाध्यापक उच्च प्राथमिक विद्यालय।

6. उपरोक्त मानक संविलियन वाले विद्यालयों पर भी इन्हीं श्रेणियों में अनुमन्य होगें।

7. पारस्परिक स्थानान्तरण ग्रामीण सेवा संवर्ग से ग्रामीण सेवा संवर्ग के अध्यापकों तथा नगर सेवा संवर्ग से नगर सेवा संवर्ग के अध्यापकों के मध्य अनुमन्य होंगे।

शिक्षकों हेतु आवश्यक महत्वपूर्ण जानकारी व निर्देश 

  • बेसिक शिक्षा परिषद के अर्न्तगत कार्यरत शिक्षकों के शास्वत पारस्परिक स्थानान्तरण किये जा सकेंगे।
  • NIC द्वारा विकसित बेवसाइट पर पारस्परिक स्थानान्तरण हेतु इच्छुक शिक्षकों का Data submit होगा जिसे अन्य शिक्षक भी देख सके, ताकि शिक्षक आपस में एक दूसरे के विवरण के आधार पर भली-भांति परिचित हो सके तथा अपना सही आवेदन कर सकें।
  • खण्ड शिक्षा अधिकारी द्वारा सत्यापन के उपरान्त आख्या जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को अग्रसारित करेगें।
  • जनपद पर गठित समिति द्वारा संस्तुत किए जाने के पश्चात पोर्टल के माध्यम से ऑन-लाइन स्थानान्तरण आदेश निर्गत किए जा सकेगें।
  • अंत: जनपदीय पारस्परिक स्थानान्तरण के फलस्वरूप स्थानान्तरित शिक्षकों को समान अवधि में एक दूसरे स्थल पर कार्यमुक्त तैनाती आदेश जारी करने की कार्यवाही सम्बन्धित खण्ड शिक्षा अधिकारियों द्वारा अनिवार्य रूप से की जायेगी।
  • आवेदन पत्र में शिक्षक द्वारा भरी गई प्रविष्टियों में की गयी त्रुटि के लिए वे स्वयं उत्तरदायी होगें तथा अन्तिम रूप से सबमिट (Submit) किये गये आवेदन पत्र में कोई संसोधन सम्भव नहीं होगा।
  • पारस्परिक स्थानान्तरण के फलस्वरूप स्थानान्तरित होने वाले शिक्षकों को प्रत्येक दशा में आदेश निर्गत होने के 07 कार्य दिवस के अन्दर विद्यालय में अनिवार्य रूप से कार्यभार ग्रहण करना होगा।
  • शिक्षकों द्वारा ऑनलाइन आवेदन एन0आई0 सी0 द्वारा विकसित पोर्टल पर विकसित पारस्परिक स्थानान्तरण मॉड्यूल के अन्तर्गत ही स्वीकार किये जायेंगे।
  • मैनुअल आवेदन पत्र (रजिस्टर्ड/स्पीड पोस्ट, कोरियर, दस्ती आदि) स्वीकार नहीं किये जायेंगे। पारस्परिक स्थानान्तरण की प्रक्रिया में दोनो अध्यापकों को एक दूसरे के कार्यरत विद्यालय में पदस्थापित किया जायेगा।
  • मा0 उच्च न्यायालय द्वारा भी शिक्षकों के स्थानान्तरण के सम्बन्ध में यह अभिमत व्यक्त किया गया है कि शैक्षिक सत्र गतिमान रहने के दौरान स्थानान्तरण होने पर विद्यालयी शिक्षा व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।
  • प्राथमिक विद्यालय तथा संविलित विद्यालय के प्राथमिक अनुभाग में अध्ययनरत कक्षावार बच्चों हेतु तैनात अध्यापकों के लिए विषयवार वर्गीकरण ( Subject Mapping ) नहीं किया जाता है।
  •  पारस्परिक स्थानान्तरण हेतु प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों के मध्य भाषा/विज्ञान/गणित की बाध्यता नहीं होगी।
  • उच्च प्राथमिक विद्यालयों में अध्ययनरत कक्षावार बच्चों हेतु विषयवार वर्गीकरण (Subject Mapping) होने के कारण विषयवार शिक्षकों की तैनाती की जाती है।
  • ऐसे शिक्षकों के द्वारा बच्चों को कक्षाओं में विषयवार पढ़ाने के निरन्तर अभ्यास के कारण उनकी कार्यकुशलता एवं दक्षता विकसित हो जाती है, जिसका शिक्षा की गुणवत्ता पर अनुकूल प्रभाव पड़ता है।
  • शिक्षा की 'गुणवत्ता में निरन्तर वृद्धि हो सके, इसलिए समान विषय हेतु समान विषय वाले शिक्षकों की उपलब्धता आवश्यक है।
  •  उच्च प्राथमिक विद्यालयों में तैनात शिक्षकों के पारस्परिक स्थानान्तरण हेतु समान पद एवं समान विषय होने के स्थिति में ही स्वीकार्य किए जायेगे।
Note : सत्यापन के दौरान शिक्षकों द्वारा दिए गये दस्तावेज के फर्जी / कूटरचित होने पर सम्बन्धित शिक्षक के खिलाफ विधिक कार्यवाही की जायेगी।

स्थानान्तरण के बाद जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा कार्यमुक्त करने के सम्बन्ध में पृथक से आदेश निर्गत किये जायेंगे। प्रेरणा पोर्टल / मानव सम्पदा पोर्टल पर सात दिवस के अन्दर स्थानान्तरित शिक्षकों के विवरण को अपडेट किया जायेगा।

Download Mutual transfer GO pdf  
Download Now