Nipun bharat Mission | Nipun lakshya Mission | Download निपुण वाक्य एवं कहानियाँ Class 1-3 pdf

Nipun app Gatividhi pdf | Nipun bharat Mission | Nipun lakshya Mission | Download निपुण वाक्य एवं कहानियाँ Class 1-3 pdf



कक्षा 1 निपुण वाक्य


1. चींटी दाना चट कर गयी

2. उसे एक बड़ा शेर दिखा

3. शेर बड़ा भालू उठाकर लाया

4. रीता सीता नीचे गिर गयी

5. मेरा तोता मीठा आम खाया

6. हाथी पर बैठ नाच दिखा

7. पेड़ पर तोता उड़ रहा

8. आम केला मीठा लग रहा

निपुण वाक्य: 02 


1. सब जल भर कर चल

2. साज बजा कर नाच दिखा

3. सब मिलकर खाना खाओ

4. नानी आम लाई सीता खाई

5. राधा घर की ओर चली

6. काले बादल जोर से बरसे

7. सीता ने खूब जामुन खाए

8. रामू की बकरी चुरा ली

निपुण वाक्य: 03 


1. नानी मीठा फल घर लाई

2. मीना फल घर पर लाई

3. सीता गीता साथ घर आई

4. मोटा हाथी मीठा केला खाया

5. सीता फूल तोड़ कर लाई

6. काली गैया हरा चारा खाई

7. भालू कूद कूद कर नाचा

8. राजा डर कर भाग गया

Download निपुण वाक्य pdf Class -1  


निपुण कहानियाँ कक्षा -2


कहानी- 1

अनुराग अपने बाबा के साथ दशहरे का मेला देखने गया। मेले में बहुत सारी खिलौनों की दुकानें थी । मेले में रामलीला भी हो रही थी । अनुराग ने रामलीला देखने के लिए अपने बाबा से कहा। बाबा ने अनुराग को अपने कंधे पर बिठाकर रामलीला दिखाई।


 कहानी- 2

चीकू और मीतू गिलहरी बरगद के पेड़ पर साथ में रहती थी । चीकू मीकू का सारा खाना खा जाती थी इसलिए मीकू बहुत परेशान रहती थी । चीकू खाना खाकर बहुत मोटी हो गई । वह इतनी मोटी हो गई कि उससे चला भी नहीं जाता था ।


कहानी-3

 टिंकू और रिंकू दो दोस्त थे । दोनों साथ में विद्यालय पढ़ने जाते थे। रास्ते में एक नदी थी । दोनों नाव पर बैठकर नदी पार करते थे। बारिश के मौसम में नदी में बहुत पानी था। बारिश में नाव बह गई । दोनों दोस्त घर आ गए।


कहानी- 4

 बरसात का मौसम था । गली के बच्चे मोना के घर खेल रहे थे। तभी बरसात शुरू हो गई। बच्चों ने खेलना बंद कर दिया और बच्चे बाहर आकर बरसात के पानी में खेलने लगे। सोनू का कुत्ता भी उसके साथ बरसात के पानी में खेलने लगा ।


कहानी- 5

मीना और रीना को बाजार जाना था । वह दोनों पहले एक पीली बस में बैठे। फिर वो लाल तांगे में बैठकर बाज़ार तक गए। वहां सब तरफ रंग बिरंगी चीजें लगी हुई थी। रीना ने बाजार से एक नीले रंग का सूट लिया और मीना ने लिए जूते। सड़क पर पानी पूरी वाला खड़ा था। दोनों ने पानी पूरी खाई और घर को निकल पड़े।


कहानी- 6

एक बंदर खाने की तलाश में मकान की छत पर चढ़ा। वहां उसे एक काला चश्मा मिला। चश्मा पहन कर बंदर को सब उल्टा दिखने लगा। बंदर बोला अरे ! यह क्या आसमान नीचे और जमीन ऊपर। बादलों को नीचे देखकर बंदर को बहुत मजा आया।


कहानी- 7

 मगरमच्छ अंडे देने के बाद रेत से ढक देते हैं। तीन महीने बाद बच्चे अंडे से बाहर आने के लिए तैयार हो तैयार जाते हैं लेकिन रेत से बाहर आने का रास्ता नहीं बना सकते। इसलिए अंडे से बाहर आते समय झांक कर कुछ आवाज निकालते हैं उस समय उसकी मां, जो उनकी रक्षा कर रही होती है, आवाज सुनकर रेत से बाहर निकाल लाती है।


कहानी- 8

एक खरगोश नदी पार करना चाहता था । वह अपने दो बतख दोस्त के पास गया। उसने नदी पार करने के लिए मित्रों से मदद मांगी। दोनो बतख मान गए। बतख दोस्तों ने उसे अपने ऊपर बिठा लिया। सबने तैरना शुरू किया । वह नदी के बीच आ गए। बतख दोस्तों को भूख लगी थी । वह मेंढक देख कर भागे । खरगोश पानी में गिर गया।


कहानी- 9

पूजा अपने पिता के साथ दंगल देखने गई। दंगल में बहुत दूर-दूर से पहलवान आए थे। दंगल में दो लोग ढोल बजा रहे थे। पूजा ने देखा, दो पहलवान कुश्ती लड़ रहे हैं। पूजा ने पिताजी से पूछा क्या मैं भी लड़ सकती हूं?


कहानी- 10

रजनी विद्यालय से आ रही थी । रास्ते में काफी धूप थी इसलिए वह छाता लगा कर आ रही थी। तभी तेज हवा चलने लगी और उसका छाता हाथ से छूट गया। छाता उड़कर एक पेड़ पर जा अटका मटका । रजनी छाता उतारने का तरीका सोचने लगी।


कहानी- 11

बबलू हाथी को गहरे तालाब में नहाना बहुत पसंद था। वह रोज तालाब पर नहाने जाता और खूब खेलता एक दिन उसे वहां भोला मिला। जो दिखने में उसके जैसा था। बबलू ने भोला से तालाब में नहाने को कहा भोला तैयार हो गया ।

Download निपुण कहानियाँ pdf Class - 2


निपुण कहानियाँ कक्षा -3


कहानी- 1

 कविता नाम की एक छोटी लड़की थी लेकिन उसके सपने बड़े बड़े थे । उसे आकाश में उड़ते हुए हवाई जहाज देखना बहुत अच्छा लगता था। वह दिन-रात सोचा करती बड़ी होकर मैं भी कोई हवाई जहाज उड़ाऊंगी। एक दिन विदेश से उसके मामा जी आए उसके लिए ढेर सारे कपड़े और खिलौने लाए पर उनमें हवाई जहाज नहीं था


कहानी- 2

माला की बड़ी बहन का नाम अनु है। अनु दीदी माला को स्कूल का काम करने में मदद करती हैं। अनु और माला पार्क में साइकिल चलाने जाते हैं। अनु माला को साइकिल चलाना सिखाती है। शनिवार को दोनों मेला देखने भी गए थे। मेले में माला ने एक गुड़िया खरीदी। अनु दीदी ने अपने लिए खरीदा एक जादुई पेन। उस पेन से कुछ भी लिखो तो दिखता नहीं है।


कहानी- 3

राजू की छोटी बहन सो रही थी। तभी घर की घंटी बजी टिंग - टोंग ! दूध वाला आया था। वह फिर सोने लगी तो आवाज आई, टिन-टिन ! दादी पूजा कर रही थी । उसने फिर सोने के लिए आंख बंद करी तो पापा का फोन बज गया, पिंग-पिंग! और राजू की बहन रोने लगी। वो अभी एक साल की है.


कहानी- 4

 किसी गांव में एक बुढ़िया रहती थी। उसके पास एक चक्की थी। वह रात दिन बैठी उस चक्की में अनाज पीसा करती थी । उसको किसी ने ना सोते देखा था ना ही कुछ खाते पीते देखा था। गांव वाले बड़े हैरान थे कि आखिर वह जिंदा कैसे है ? वह आपस में बात भी करते कि वह ऐसा क्यों करती है?


कहानी- 5

एक दिन राजापुर गांव में एक गुप्त बैठक चल रही थी । विषय था रामलाल को सबक सिखाना। रामलाल एक बेहद बेईमान दुकानदार था। वह सामानों के दाम बढ़ा चढ़ा कर लेता था। गांव में एक होशियार लड़की रहती थी जिसका नाम नीता था। उसने बैठक में एक बढ़िया योजना बनाई। योजना के मुताबिक गांव में आम दिवस मनाने का फैसला हुआ।


कहानी- 6

 घर के एक कोने में नानी की चारपाई कई वर्षों से पड़ी थी । नानी अब मामा के पास रहती हैं। एक दिन रजत को एक जुगत सूझी। उसने चारपाई की रस्सी खोली, पाए अलग किए और अहाते के पेड़ पर एक झूला डाल दिया। अब रजत और बहन रिचा दोनों उस पर मजे से झूला झुलते, और हवाखोरी भी करते ।


कहानी- 7

 करन के घर में एक बिल्ली है। वो बिल्ली सफेद रंग की है लेकिन उसकी पूंछ भूरे रंग की है। घर में सब लोग बिल्ली से बहुत प्यार करते हैं। वह बिल्ली मां की गोद में सोती है। पापा के हाथ से खाना खाती है। करन के साथ खेलती है और दादी के पास जाकर बैठ जाती है। बिल्ली का नाम मिशी है।


कहानी- 8

 भालू शहर में घूमने निकला। उसने सड़क पर एक लाल बस देखी। उसका मन बस चलाने का हुआ। उसे रास्ते में एक बड़ी बस खड़ी मिली। भालू बस में बैठा और उसे चलाने लगा। बस वाला जोर से चिल्लाया - "अरे मेरी बस ।" बस वाला उसके पीछे-पीछे भागा सड़क पर लाल बत्ती हो गई थी। लेकिन भालू बस चलाता रहा


कहानी- 9

राजू के घर में दो कुत्ते हैं एक का नाम है गोलू और दूसरे का नाम है भोलू । भोलू भूरे रंग का है और गोलू काले रंग का । दोनों साथ में खेलते हैं। भोलू रोज सुबह के समय भौंकता है लेकिन गोलू कभी नहीं भौंकता। राजू हर रोज दोनों कुत्तों को घुमाने के लिए बाग में लेकर जाता है। दोनों कुत्ते राजू के अच्छे दोस्त हैं।


कहानी- 10

 अमित प्रतिदिन विद्यालय जाता था। विद्यालय के बाहर बहुत से खाने पीने वालों के ठेले खड़े होते हैं। अमित रोज कुछ ना कुछ खरीद कर खाता था। एक दिन जब वह बाहर आया उसने देखा कि वहां एक नया ठेला खड़ा है। उसके ठेले पर भिन्न भिन्न प्रकार के फूलों के पौधे थे। ठेलेवाला पौधों के बारे में लोगों को बता रहा था ।


कहानी- 11

 एक सियार और ऊंट की बड़ी पक्की दोस्ती थी। दोनों एक साथ घूमने जाते थे । एक दिन वे फल खाने के लिए चुपचाप बाग में घुस गए। ऊंट ने बाग में बहुत सारे फलों के पेड़ देखे । उन दोनों ने अमरुद चुराने की सोची। ऊंट ने लंबे होने के कारण ढेर सारे अमरुद तोड़ लिए। दोनों का पेट भर गया।


कहानी- 12

 अमरीश एक लोभी आदमी था । एक सुबह उसने देखा उसका दोस्त पवन अपने घर को सजा रहा है। अमरीश ने उससे पूछा क्या बात है ? इतनी सफाई और सजावट चल रही है । पवन ने उत्तर दिया किसी को बोलना मत सिर्फ तुम्हें बता रहा हूं। आज मेरे यहां पर भगवान आने वाले हैं। अरे! आयेंगे तो कुछ देकर ही जाएंगे।


कहानी- 13

 मेरे गांव का नाम किशनपुर है। यह गांव लखनऊ जिले में पड़ता है। मेरे गांव में दो हज़ार से ज्यादा लोग रहते हैं। यह गांव बहुत ही हरा भरा है। गांव के बगल से एक नदी गुजरती है इसका नाम गोमती है। यह नदी हमारे गांव को उर्वर बनाए रखने में मदद करती है। यहां खेल का मैदान भी है

Download निपुण कहानियाँ pdf Class - 3

Download Now