ईयर फोन पर बात करने पर प्रधानाध्यापक निलंबित, अनुपस्थित 17 शिक्षकों का वेतन रोका गया

 


बड़ागांव ब्लाक में समस्त खंड शिक्षा अधिकारियों सहित जिला समन्वयकों की टीम ने पिछले दिनों 100 से अधिक विद्यालयों का निरीक्षण किया था। अनुपस्थित पाएं गए 17 शिक्षकों व अन्य कर्मचारियों का वेतन रोक दिया गया है। साथ ही एक शिक्षक को निलंबित भी कर दिया गया है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. अरविंद कुमार पाठक ने बताया कि हरहुआ ब्लाक के कंपोजिट विद्यालय मधेपुर में अनेक अनियमितताएं पाई गई।


बड़ागांव ब्लाक में समस्त खंड शिक्षा अधिकारियों सहित जिला समन्वयकों की टीम ने पिछले दिनों 100 से अधिक विद्यालयों का निरीक्षण किया था। अनुपस्थित पाएं गए 17 शिक्षकों व अन्य कर्मचारियों का वेतन रोक दिया गया है। साथ ही एक शिक्षक को निलंबित भी कर दिया गया है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. अरविंद कुमार पाठक ने बताया कि हरहुआ ब्लाक के कंपोजिट विद्यालय मधेपुर में अनेक अनियमितताएं पाई गई। निरीक्षण के समय प्रधानाध्यापक कान में मोबाइल फोन का इयर फोन लगा आंख बंद करके आनंद ले रहे थे, जिसके कारण उन्हें तत्काल सस्पेंड कर दिया गया एवं उनके खिलाफ अनुशासनिक कार्यवाही संस्थित कर दी गई।


रनिंग वाटर सिस्टम की नहीं थी व्यवस्था

यही नहीं प्रधानाध्यापक व विज्ञान के टीचर द्वारा 21 अध्याय में केवल तीन अध्याय पढ़ाया गया था। विज्ञान में बच्चों का अल्प ज्ञान था। रनिंग वाटर सिस्टम की कोई व्यवस्था नहीं थी। हैंड वाशिक यूनिटी टूटी हुई पाई गई। कमरों का टाइलीकरण नहीं हुआ था। निरीक्षण में पाया गया कि पठन-पाठन में अध्यापक की कोई रुचि नहीं थी। बड़ागांव में औचक निरीक्षण में शिक्षा मित्र, अनुदेशक और सहायक अध्यापकों को कुल मिलाकर 17 लोग अनुपस्थित रहे, जिनका उक्त तिथि का वेतन स्थगित कर दिया गया है।


इसी प्रकार जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने प्राथमिक विद्यालय इंद्रावर का निरीक्षण किया गया जहां पर आपरेशन कायाकल्प के तहत प्रधानाध्यापक एवं अध्यापकों द्वारा रुचि लेकर कोई कार्य नहीं किया गया, जिसके कारण विद्यालय की स्थिति खराब पाई गई। इस लापरवाही पर प्रधानाध्यापक एवं समस्त स्टाफ का वेतन रोकते हुए निर्देशित किया गया कि एक सप्ताह में रंगाई पुताई करते हुए सारी कमियों को दूर लें।