सूबे के एक लाख प्राथमिक विद्यालयों में मिलेगी नई सौगात, शिक्षक बोले एक और प्रयोग

 सूबे के एक लाख प्राथमिक विद्यालयों में मिलेगी नई सौगात, शिक्षक बोले एक और प्रयोग 



उत्‍तर प्रदेश भर के एक लाख से अधिक परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में अध्ययनरत कक्षा एक से पांच तक के छात्र-छात्राओं को फर्राटेदार अंग्रेजी सिखाने के लिए पहली बार लैंग्वेज किट बनाई जा रही है। बच्चों को खेल-खेल में अंग्रेजी भाषा सिखाने के लिए आंग्ल भाषा शिक्षा संस्थान (ईएलटीआई) के विशेषज्ञ टीचिंग लर्निंग मैटेरियल (टीएलएम) तैयार कर रहे हैं, जो अगले सत्र से स्कूलों में उपलब्ध होने की उम्मीद है।


क्रिया के तीनों रूप समझाने के लिए वर्ड बाइस्कोप, संयुक्त शब्दों के लिए रिंग गेम, बोर्ड गेम, वर्ड-टाइल गेम, स्पिनिंग व्हील गेम जैसे रोचक खेल बनाए गए हैं। किट में 20 खेल और 10 प्रिंट रिच सामग्री रहेगी। यह लैंग्वेज किट इतनी रोचक और आसान है कि क्लास में कभी शिक्षक न रहे तो भी बच्चे स्वयं किट का उपयोग कर सकेंगे और क्लास में उनका मन लगा रहेगा।


वैसे इस किट के उपयोग के लिए शिक्षकों को हैंडबुक भी दी जाएगी। हैंडबुक भी ईएलटीआई में ही तैयार की जा रही है ताकि लैंग्वेज किट का अधिकतम लाभ बच्चों को मिल सके। संस्थान के प्राचार्य डॉ. स्कंद शुक्ल के अनुसार समग्र शिक्षा अभियान के तहत आयोजित कार्यशाला में प्राथमिक स्तर के विद्यार्थियों के लिए बनाई जा रही अंग्रेजी भाषा किट की डिजाइन लगभग तैयार है।


कार्यशाला में अनुभवी अंग्रेजी शिक्षक, कलाकार और शिल्पकार शामिल रहे। यह किट छात्रों की शब्दावली को समृद्ध करने के साथ ही उन्हें बोझ महसूस कराए बगैर अंग्रेजी भाषा की संरचना की बारीकियों से अवगत कराने में सहायक होगी।


- भाषा किट खेल के माध्यम से भाषा को आत्मसात करने को प्रोत्साहित करती है।


- कक्षा में बच्चों को कौशल विकास और समूह में सीखने की सहूलियत मिलेगी।


- मजेदार तरीकों से भाषा सिखाने के लिए किट शिक्षकों के लिए मददगार होगी।


- किट से शिक्षण-अधिगम को आसान, रोचक और प्रभावी बनाने 


में मदद मिलेगा।


वही कुछ शिक्षकों द्वारा यह कहा जा रहा है की बेसिक शिक्षा में सुधार के नित्त नए आदेश और निर्देश जारी किये जाते रहे हैं लेकिन अधिकारी ही इसका असली जामा नहीं पहनाते वे खुद ही लापरवाही पर उतारू हैं : संवाद