बदलाव : पदोन्नति में बदले नियम, तैयार होगी लिस्ट, अब ऐसे बनेगी लिस्ट




बुलंदशहर : परिषदीय स्कूलों में पदोन्नति के इंतजार में बैठे शिक्षकों को झटका लगा है। शासन ने पदोन्नति के नियमों में बदलाव अब कर दिया है। 30 सितंबर 2023 तक पांच वर्ष की सेवा पूरी कर चुके शिक्षकों के आधार पर नई लिस्ट तैयार होगी। बेसिक सचिव ने आदेश जारी कर नए सिरे से लिस्ट बनाने के निर्देश बीएसए को दिए हैं। विभाग द्वारा अब शिक्षकों की नए सिरे से लिस्ट बनाई जाएगी।


जिले में करीब 160 पद पदोन्नति के लिए हैं। पहले 31 मार्च 2023 तक पांच वर्ष की सेवा पूरी कर चुके शिक्षकों की लिस्ट विभाग तैयार हुई थी, मगर अब बदलाव होने के बाद काफी शिक्षक सूची से बाहर होंगे और नए शिक्षक इसमें


जुड़ जाएंगे। विभाग के अनुसार जो शिक्षक पदोन्नति के दायरे में आ रहे होंगे उनकी सूची तैयार कर शासन को भेज दी जाएगी और वहीं से अंतिम सूची स्कूलवार जिले को प्राप्त होगी। इसमें करीब एक माह होने के कारण शिक्षकों को भी का समय लग सकता है। पदोन्नति न मायूसी हाथ लगी है।


छह माह से लटकी हुई पदोन्नति प्रक्रिया


शिक्षकों की पदोन्नति प्रक्रिया को चलते हुए छह माह से अधिक का समय हो चुका है। पहले करीब 1700 शिक्षकों की लिस्ट तैयार का शासन में भेजी थी। मात्र 160 शिक्षकों की पदोन्नति जिले में होनी है। प्राथमिक के सहायक की प्राथमिक में हैडमास्टर व जूनियर स्कूल में अध्यापक के पद पर पदोन्नति होनी है। पहली लिस्ट पर शासन से छह माह तक निर्णय नहीं लिया जा सका है। लिस्ट निरस्त होने के बाद शिक्षकों को मायूसी हाथ लगी है, जबकि और शिक्षक सूची में जुड़ जाएंगे। विभाग द्वारा इसी माह में लिस्ट तैयार कर शासन में भेज दिया जाएगा