बड़े पैमाने पर स्कूलों के विलय की सिफारिश


नई दिल्ली. नीति आयोग ने शिक्षा व्यवस्था पर बड़े बदलाव की सिफारिश करते हुए छोटे और कम नामांकन वाले स्कूलों को निकट के स्कूलों में विलय करने और शिक्षक भर्ती को तर्कसंगत बनाने का सुझाव दिया है।


आयोग की ओर से सरकार को दी गई 'शिक्षा में बदलाव के लिए सतत कार्रवाई' रिपोर्ट में तीन राज्यों से मिले सुझावों को शामिल किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया कि कम नामांकन वाले स्कूलों के विलय से स्कूलों का विकास होगा। पैसे की भी बचत हो सकेगी। रिपोर्ट के अनुसार भारत में समान नामांकन के लिए चीन की तुलना में स्कूलों की संख्या पांच गुना है।


सामाजिक विज्ञान का सिलेबस बदलेगा


(एनसीईआरटी) स्कूली शिक्षा में बड़ा बदलाव करने जा रही है। नेशनल सिलेबस एंड टीचिंग लर्निंग मैटेरियल कमेटी ( एनएसटीसी) ने पद्मश्री मिशेल डैनिनो ( शिक्षाविद ) की अध्यक्षता में 35 सदस्यीय समिति का गठन किया है। कमेटी छठी से 12वीं कक्षा के लिए सामाजिक विज्ञान (इतिहास, भूगोल, राजनीतिक विज्ञान, समाजशास्त्र, मनोविज्ञान) का पाठ्यक्रम दोबारा तैयार करेगी। यह समूह शुरुआत में तीन भाषाओं हिंदी, अंग्रेजी और उर्दू में शिक्षण सामग्री तैयार करेगा। बाद में अन्य भाषाओं में इसका अनुवाद किया जाएगा।