विद्यालय की दशा व दिशा सुधारने को प्रधान संघ के अध्यक्षों एवं महामंत्री के साथ एक दिवसीय कार्यशाला आयोजन के सम्बन्ध में आदेश



महोदय,


उल्लेखनीय है कि बेसिक शिक्षा विभाग के अधीन संचालित लगभग 1.33 लाख परिषदीय विद्यालयों के सापेक्ष लगभग 1.21 लाख विद्यालय ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित है। प्रदेश में संचालित इन परिषदीय विद्यालयों की दशा एवं दिशा को सुधारने के उद्देश्य से बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा 02 अत्यन्त ही महत्त्वपूर्ण एवं समयबद्ध कार्यक्रम ऑपरेशन विद्यालय कायाकल्प एवं निपुण भारत अभियान संचालित किये जा रहे है आप भली-भांति अवगत है कि ऑपरेशन विद्यालय कायाकल्प के अन्तर्गत प्रदेश को मार्च, 2024 तक 19 मूलभूत अवस्थाना सुविधाओं के साथ आच्छादित किये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।


 इसके साथ ही साथ शिक्षा की गुणवत्ता को नये आयाम तक ले जाने एवं राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के सिद्धान्तों के अनुरूप निपुण भारत अभियान के अन्तर्गत निर्धारित लक्ष्यों की प्राप्ति भी निश्चित समयावधि में (वर्ष 2025-26) पूर्ण करते हुये प्रदेश को निपुण प्रदेश के रूप में स्थापित किये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।


प्रदेश में उक्त महत्वपूर्ण कार्यक्रम के क्रियान्वयन अनुश्रवण एवं समयबद्ध संतृप्तीकरण के लिए प्रत्येक स्तर पर सभी की जिम्मेदारी सुनिश्चित की गयी है। विभागीय कार्यक्रमों के गुणवत्तापरक एवं समयबद्ध क्रियान्वयन के लिए यह अत्यन्त आवश्यक है कि प्रदेश के प्रत्येक स्तर पर महत्वपूर्ण हितधारकों का क्षमता संवर्द्धन एवं प्रोत्साहन किया जाय, जिसके लिए प्रदेश की प्रत्येक ग्राम पंचायत के साथ संवाद करने की अत्यन्त आवश्यकता है।


तत्क्रम में ग्राम पंचायत के हितधारकों के मध्य संवाद स्थापित किये जाने के उद्देश्य से राज्य स्तर पर एक दिवसीय गोष्ठी आयोजित किये जाने का निर्णय लिया गया है। उक्त महत्वपूर्ण गोष्ठी में


प्रत्येक जनपद से निम्न 04 प्रतिभागियों को प्रतिभाग किया जाना है :-


1. प्रत्येक जनपद से ग्राम पंचायतों में चयनित प्रधानों के प्रधान संघ के अध्यक्ष ।


2. प्रत्येक जनपद से ग्राम पंचायतों में चयनित प्रधानों के प्रधान संघ उपाध्यक्ष / महामंत्री ।


3. प्रत्येक जनपद के पंचायतीराज विभाग में कार्यरत जिला परियोजना प्रबन्धक ।


4. प्रत्येक जनपद के बेसिक शिक्षा विभाग में कार्यरत जिला समन्वयक, निर्माण।


कार्यशाला का आयोजन निम्नवत् किया जायेगा :-


• कार्यशाला को तीन चरणों में जनपद लखनऊ में आयोजित किया जायेगा।


• प्रत्येक चरण में 06-06 मण्डलों के जनपदों के प्रतिभागियों द्वारा प्रतिभाग किया जायेगा। जनपदवार मिनट-टू-मिनट कार्यक्रम पृथक से संलग्न है (संलग्नक-1)।


• प्रत्येक जनपद हेतु निर्धारित तिथि से एक दिवस पूर्व कार्यक्रम स्थल पर पहुँचना होगा। प्रत्येक प्रतिभागी के रात्रि विश्राम (on the basis of twin sharing) एवं भोजन की उचित व्यवस्था राज्य स्तर पर सुनिश्चित की जायेगी


• प्रतिभागियों के ठहरने एवं कार्यक्रम स्थल की सूचना पृथक से उपलब्ध करायी जायेगी।


• समस्त प्रतिभागी ग्राम प्रधान संघ के अध्यक्ष एवं महामंत्रियों को नियमानुसार यात्रा भत्ता प्रदान किया जायेगा, जो राज्य परियोजना कार्यालय, समग्र शिक्षा द्वारा उपलब्ध कराया जायेगा। इस हेतु समस्त प्रतिभागियों को पंजीकरण के दौरान अपना बैंक खाता संख्या, बैंक का नाम, आई०एफ०सी० कोड आदि का विवरण एवं उसकी पुष्टि में निरस्त चेक उपलब्ध कराना अनिवार्य होगा ।


उक्त कार्यशाला बेसिक शिक्षा विभाग के महत्वाकांक्षी कार्यक्रमों के सुचारू एवं समयबद्ध क्रियान्वयन हेतु एवं कार्यक्रम के मुख्य हितधारकों के क्षमता संवर्द्धन के दृष्टिकोण से अत्यन्त महत्वपूर्ण है। अत आपसे अनुरोध है कि निर्धारित दिवसों में सम्बन्धित प्रतिभागियों को अनिवार्य रूप से उपस्थित होने एवं प्रतिभागिता सुनिश्चित किये जाने के सम्बन्ध में अपने स्तर से निर्देशित करना सुनिश्चित करें।