रसोईए से संबंधित नवीन आदेश जारी


दिनांक 04 अक्टूबर 2019 में मध्यान्ह भोजन योजनान्तर्गत विद्यालयों में अनुमन्य रसोइयों की संख्या, छात्र नामांकन के अनुसार निर्धारित है। दिनांक 14 जुलाई 2021 द्वारा विगत वित्तीय वर्षों में कोविड-19 के दृष्टिगत रसोइयों की संख्या का पुर्ननिर्धारण एवं नवीनीकरण / चयन का कार्य स्थगित करने के निर्देश थे। पुनः शासनादेश संख्या-843/ अरसठ-4-2022-604/2020 दिनांक 31 अगस्त 2022 के क्रम में निदेशक, मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण के पत्रांक-म०भो० प्रा० / सी-1674 / 2022-23 दिनांक 13 सितम्बर 2022 द्वारा रसोइयों की संख्या का पुर्ननिर्धारण एवं नवीनीकरण / चयन की कार्यवाही उपरोक्त शासनादेश दिनांक 24.04.2010 के आलोक में करने के निर्देश प्रदान किये गये है।


जनपदीय एवं विकासखण्ड स्तरीय अधिकारियों के निरीक्षणों में यह संज्ञान में आ रहा है कि विद्यालयों का संविलियन हो जाने अथवा छात्र संख्या कम या अधिक हो जाने के उपरान्त भी विद्यालयों में मानकानुसार रसोइयां कार्यरत नहीं है ।


अतः निदेशक, मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण के पत्रांक- म०भो० प्रा० / सी-1674 / 2022-23 दिनांक 13 सितम्बर 2022 के क्रम में माह सितम्बर 2023 के पश्चात यदि किसी विद्यालय में छात्र नामांकन के अनुसार अनुमन्य रसोइयों की संख्या से अधिक रसोइया चयनित / कार्यरत पाये जाते हैं. अथवा अतिरिक्त रसोइयों को मानदेय भुगतान कराये जाने हेतु कार्यवाही की जाती है तो ऐसी दशा में सम्बन्धित प्र / इं०प्र०अ० तथा खण्ड शिक्षा अधिकारी को प्रथम दृष्टया वित्तीय अनियमितता का दोषी / उत्तरदायी मानते हुए कठोर विभागीय कार्यवाही कर दी जायेगी, जिसका सम्पूर्ण उत्तरदायित्व सम्बन्धित का होगा।