प्राथमिक शिक्षिका पिछले तीन सप्ताह से गायब, बीएसए के निर्देश पर जाँच शुरू

  


पडरौना, । पडरौना ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय प्रीतम टोला नादह में तैनात महिला शिक्षिका पिछले तीन सप्ताह से गायब है। बच्चों की सूचना पर पहुंचे ग्राम प्रधान व ग्रामीणों ने उपस्थिति रजिस्टर देखा तो पिछले 25 अक्तूबर से शिक्षिका का उपस्थिति रजिस्टर रिक्त है। उसमें उपस्थिति या अनुपस्थिति दर्ज नहीं की गई थी। इसके खिलाफ ग्रामीणों ने स्कूल में विरोध प्रदर्शन कर बीएसए से शिकायत की। 


बीएसए के निर्देश पर बीईओ पडरौना सुरेंद्र बहादुर सिंह ने स्कूल पहुंच कर जांच की तथा शिक्षिका को ऑनलाइन अनुपस्थित कर कार्रवाई के लिए रिपोर्ट तैयार कर बीएसए को सौंपा है। प्राथमिक विद्यालय प्रीतम टोला नादह में प्रभारी प्रधानाध्यापक संदीप राय, सहायक अध्यापिका मोहिनी सिंह, सहायक शिक्षामित्र घनश्याम सिंह, सुमित्रा गुप्ता, शिक्षामित्र वकील सिंह पटेल तथा रसोइया शीला देवी व रीता देवी तैनात हैं। बच्चों की शिकायत पर ग्राम प्रधान नादह मारर्कंडेय यादव के साथ सुनील पटेल, दिलीप गुप्ता, रामप्यारे पटेल, बबलू यादव, राकेश यादव, बिरजू पठेल, सीताराम पटेल, रमेश पटेल आदि ग्रामीण शनिवार को स्कूल पहुंचे।


प्रधान ने स्कूल के प्रधानाध्यापक से उपस्थिति रजिस्टर मांग कर देखा तो प्रधान समेत ग्रामीणों का होश उड़ गया। उपस्थिति रजिस्टर में पिछले 25 अक्तूबर से शिक्षिका मोहिनी सिंह के कालम में उपस्थिति या अनुपस्थिति कुछ भी दर्ज नहीं था। बच्चों ने बताया कि शिक्षिका कभी भी स्कूल नहीं आती है। आरोप है कि शिक्षिका सचिवालय के बडे अधिकारी से संबंध होने का रौंब दिखाकर स्कूल में पढाने नहीं आती है। इसकी शिकायत ग्राम प्रधान ने बीएसए से की। बीएसए के निर्देश पर बीईओ पडरौना सुरेंद्र बहादुर सिंह स्कूल पहुंचकर जांच किया। बीईओ ने शिक्षिका को ऑनलाइन अनुपस्थित कर कार्रवाई के लिए रिपोर्ट तैयार की है।


प्रधान व ग्रामीणों की शिकायत पर बीईओ पडरौना को स्कूल में जांच के लिए भेजा गया है। बीईओ की रिपोर्ट मिलने पर आगे की कार्रवाई की जायेगी। स्कूल न जाना तथा रजिस्टर में अनुपस्थिति नहीं दर्ज करने का मामला गंभीर है। दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जायेगी।


डॉ. रामजियावन मौर्य, बीएसए