नवनियुक्त शिक्षकों का होगा इंडक्शन ट्रेनिंग, सॉफ्टवेयर के माध्यम से आवंटित होगा स्कूल

 


BPSC द्वारा आयोजित शिक्षक भर्ती परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान कर दी गई है। नियुक्ति पत्र प्रदान करने के बाद उन्हें प्रशिक्षण देना है जिसके लिए तैयारियां शुरु कर दी गई है। शिक्षा विभाग द्वारा शेड्यूल तैयार इसकी जानकारी सभी पदाधिकारियों को दे दी गई है। अब 6 नवंबर से इंडक्शन ट्रेनिंग शुरु कर दी जाएगी। नवनियुक्त शिक्षकों को सॉफ्टवेयर के माध्यम से स्कूल आवंटित किया जाएगा। किस शिक्षक को कौन-सा स्कूल आवंटित होगा, इसमें पदाधिकारी की कोई भूमिका नहीं होगी। जानकारी के मुताबिक, ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों में शिक्षकों के पदस्थापन को प्राथमिकता दी जाएगी।

6 नवंबर से शुरु होगा ट्रेनिंग

दरअसल, शिक्षा विभाग के अनुसार नवनियुक्त शिक्षकों का इंडक्शन ट्रेनिंग छह नवंबर से प्रशिक्षण संस्थान में शुरू किया जाएगा। जिलाधिकारी, उप विकास आयुक्त अथवा अनुमंडल पदाधिकारी समय-समय पर इन प्रशिक्षण संस्थानों में जाएंगे। जिन-जिन विद्यालयों में अध्यापकों की ट्रेनिंग की जाएगी, उस विद्यालय में अध्यापक प्रशिक्षण में उपस्थित हैं अथवा नहीं, इसकी भी जानकारी जिले के वरीय पदाधिकरियों द्वारा ली जाएगी। प्रशिक्षण के माध्यम से नवनियुक्त शिक्षक आधुनिक विभागीय गतिविधियों, तकनीकों और कार्यशैली से परिचित होंगे।


प्रशिक्षण के दौरान उन्हें अनुशासन, व्यवहारिक कक्षा शिक्षण, कक्षा की समस्याएं, छात्रों व अभिभावकों के साथ बातचीत और विचारों के आदान प्रदान, शिक्षा विभाग की उपलब्धियों, वर्तमान शिक्षा स्तर के बारे में जानकारी दी जाएगी।साथ ही विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों को विभिन्न मनोवैज्ञानिक विधियों के माध्यम से समानता आधारित शिक्षा प्रदान करने के महत्व के संबंध में भी जानकारी दी जाएगी।