BPSC पास टीचर की झोपड़ी में जॉइनिंग, बिहार में बिना स्टूडेंट वाला स्कूल देखिए

 



 बिहार BPSC की परीक्षा पास कर 1 लाख 20 हजार 336 कैंडिडेट, टीचर बन गए। अलग-अलग स्कूलों में इनकी जॉइनिंग चल रही है। पश्चिम चंपारण जिले के झोपड़ी वाले स्कूल में महिला शिक्षक ने जॉइन कीं। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। बैरिया प्रखंड के सूरजपुर पंचायत के प्राथमिक विद्यालय गोबरही है।


बेतिया: बिहार में बीपीएससी पास टीचर की जॉइनिंग झोपड़ी में हुई। यहां ना तो स्कूल की कोई बिल्डिंग है और ना ही कोई स्टूडेंट। दूर-दूर तक केवल जंगल ही जंगल दिखाई देता है। यहीं पर दो-तीन झोपड़ी है। चार-पांच लोग एक महिला टीचर की जॉइनिंग करा रहे हैं। बैठने के लिए कोई कुर्सी भी नहीं है। गमछा बिछाकर हेड मास्टर बैठे हुए हैं और नई टीचर का वेलकम जमीन पर बैठकर रहे हैं। BPSC से नवनियुक्त शिक्षिका ने जमीन पर बैठकर योगदान दिया। स्कूल के नाम पर दो झोपड़ियों जरूर बनी हुई है। झोपड़ी वाले स्कूल में बैठने तक की जगह नहीं है। बताया जा रहा है कि इस स्कूल में एक भी बच्चे पढ़ने नहीं आते हैं।


वेलकम टू झोपड़ी स्कूल


बिहार लोक सेवा आयोग से नवनियुक्त शिक्षिका ने जमीन पर बैठकर कर खुले आसमान के नीचे झोपड़ी वाले स्कूल में जॉइन की। ये स्कूल दियारा इलाके में है। जिसका अपना कोई भवन नहीं है। दियारा इलाके के दो झोपड़ियों में कथित स्कूल का संचालन होता है। नवनियुक्ति शिक्षिका जब जमीन पर बैठकर योगदान दे रही थी, तभी किसी ने घूम-घूम कर वहां का वीडियो बना लिया। ये वीडियो गुरुवार का बताया जा रहा है। इसमें दिख रहा है कि शिक्षिका जमीन पर बैठकर पेपर पर साइन कर रही है। अगल-बगल में कुछ शिक्षक खड़े हैं।


बेतिया का गोबरही प्राइमरी स्कूल


बिना बिल्डिंग और बिना स्टूडेंट वाला बिहार का ये नामचीन विद्यालय पश्चिम चंपारण जिले (बेतिया) के बैरिया प्रखंड के सूरजपुर पंचायत के प्राथमिक विद्यालय गोबरही है। प्राइमरी स्कूल गोबरही में योगदान लेने के बाद BPSC से चयनित नवनियुक्त शिक्षिका ने खुशी जाहिर किया। उसे इस बात की खुशी थी फाइनली उसने सरकारी नौकरी हासिल कर ली। मगर, बिहार के लिए ये तस्वीर अच्छी नहीं है। उम्मीद है कि पटना में बैठी सरकार इस वायरल वीडियो को देखकर गोबरही प्राइमरी स्कूल के बारे में एक बार जरूर सोचेगी।


वायरल वीडियों में क्या दिख रहा


वीडियो में दिख रहा है कि झोपड़ी में दो लोग खड़े हैं और दो लोग एक गमछे पर बैठे हुए हैं। उसमें से एक शख्स उस महिला शिक्षिका से कुछ कागजातों पर साइन करा रहा है। एक आदमी इस पूरे प्रॉसेस का वीडियो बना रहा था। जब तक कागजी कार्रवाई चल रही थी, तब तक उसने अपने मोबाइल कैमरे को आसपास के एरिया में घूमा दिया। इसमें दिख रहा है कि चारों तरफ लंबे-लंबे झाड़ है। दो-तीन झोपड़ी बनी हुई है। उसी में से एक झोपड़ी में जॉइनिंग का काम चल रहा है। आसपास न तो कोई बस्ती दिखी और ना ही कोई स्टूडेंट दिखा

देखें वीडियो 👇👇