उच्च वर्गीय लिपिक को DM ने किया सेवा से बर्खास्त




नाजिर व उच्च वर्गीय लिपिक को DM ने किया सेवा से बर्खास्त, एक अन्य उच्च वर्गीय लिपिक से भी 12 लाख वसूलने का आदेश

समस्तीपुर :- समस्तीपुर जिले में घूस लेते हुए निगरानी विभाग के हत्थे उच्च वर्गीय लिपिक व गबन करने के आरोपी प्रखंड नाजिर के विरुद्ध बड़ी कार्रवाई की गयी है। जांच रिपोर्ट के बाद डीएम योगेंद्र सिंह ने दोनों कर्मी को सेवा से बर्खास्त कर दिया है। वहीं अभिश्रव का प्रभार नहीं सौंपे जाने के एक अन्य मामले में उच्च वर्गीय लिपिक से लगभग 12 लाख रुपए की राशि वसूली करने का आदेश दिया गया है। इस मामले में समाहरणालय के जिला स्थापना प्रशाखा के द्वारा आदेश भी जारी कर दिया गया है। इसकी सूचना जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी है।

जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी के द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार निगरानी अन्वेंशन ब्यूरो पटना के द्वारा गठित धाबा दल के द्वारा 18 अप्रैल 2019 को सरायरंजन अंचल में कार्यरत उच्च वर्गीय लिपिक प्रभाकर कुमार सिंह को रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद 18 अप्रैल 2019 के प्रभाव से तत्काल निलंबित किया गया था। फिर सात जुलाई 2020 को प्रभाकर कुमार सिंह के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई के संचालन के लिए सदर एसडीओ को संचालन अधिकारी एवं सीओ सरायरंजन को उपस्थापना अधिकारी नियुक्त किया गया था। एसडीओ के पत्रांक 2365 दिनांक 31 अगस्त 2023 के आलोक में समर्पित अधिगम पर सुस्पष्ट मंतव्य के आलोक में डीएम ने चार नवंबर 2023 द्वारा दंड अधिरोपण के क्रम में सेवा से बर्खास्त किया गया है।